स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के हाउस और वाटर टैक्स होंगे माफ

खास ख़बरें

पार्षदों के वार्डों की समस्याओं का होगा निजात, बिना भेदभाव के कराया जाएगा विकास

कानपुर, 15 सितंबर (वेब वार्ता)। देश की आजादी के 75वें वर्ष पर अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है और शहीदों को याद किया जा रहा है। इस कड़ी को आगे बढ़ाते हुए कानपुर नगर निगम ने बुधवार को सदन में अहम फैसला लिया है। इसके तहत महानगर में रहने वाले सभी स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के घरों का हाउस टैक्स और वाटर टैक्स माफ हो जाएगा। महापौर प्रमिला पाण्डेय ने जहां स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिवारों का सम्मान किया है तो वहीं भावनात्मक रूप से जनता से जुड़ाव को बढ़ा लिया।

नगर निगम का सदन बुधवार को संचालित किया गया और सदन के माइक खराब होने पर पार्षदों ने जमकर हंगामा काटा। इसके साथ ही अपने-अपने क्षेत्र में विकास की मांग कर रहे पार्षदों ने महापौर प्रमिला पाण्डेय से नाराजगी जताई। ऐसे में एक बार फिर नगर निगम का सदन हंगामे की भेट चढ़ गया और सदन को स्थगित करना पड़ा। यहां तक हंगामे से नाराज होकर नगर आयुक्त शिवशरणप्पा भी सदन को छोड़कर चले गये। पार्षदों ने इस बात की भी नाराजगी जताई कि निर्धारित समय से एक घंटे की देरी से सदन शुरू हुआ। महापौर प्रमिला पांडेय ने सभी पार्षदों को शांत कराकर सदन को शुरू कराया, लेकिन सदन की कार्यवाही करीब 20 मिनट तक ही चल सकी। इस दौरान नगर निगम सदन की बैठक में कई अहम प्रस्ताव पास किये गए।

सदन के बाद महापौर ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि आज की सदन में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के घरों के हाउस व वाटर टैक्स को माफ करने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा नई विज्ञापन नीति को मंजूरी दी गई है। सभी 110 वार्डों में 10-10 स्ट्रीट लाइट लगाने का निर्णय लिया गया है। स्वरूप नगर में शहर की पहली महिला मार्केट का निर्माण कराया जाएगा, जिसकी डिजाइन बनकर तैयार हो गई है। सदन ने इस प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है, कुछ पार्षदों ने विकास कार्यों के मुद्दे पर अधिकारियों को घेरा और हंगामा किया। अपने अपने वार्ड की समस्याएं भी पार्षदों ने उठाई। सदन के माइक बंद होने पर भी पार्षदों ने विरोध दर्ज कराया।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें