लखीमपुर खीरी के शहीदों निमित गुरुद्वारा बंगला साहिब में हुआ अरदास समागम

खास ख़बरें

नई दिल्ली, 12 अक्टूबर (वेब वार्ता)। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की तरफ से लखीमपुर खीरी में शहीद हुए किसानों और पत्रकार की आत्मिक शान्ति के लिए गुरुद्वारा बंगला साहिब में अरदास समागम करवाया गया। इस समागम में समिति के महासचिव और शिरोमणि अकाली दल की दिल्ली इकाई के प्रधान सरदार हरमीत सिंह कालका और अन्य मैंबर विशेष तौर पर शामिल हुए। इस मौके रागी सिंहों के जत्थों ने गुरू क्या ईश्वरीय वाणी के कीर्तन के साथ संगतों को निहाल किया। इस उपरांत ज्ञानी रणजीत सिंह जी ने अरदास की।

इस मौके समिति के महा सचिव सरदार हरमीत सिंह कालका ने कहा कि हम आज सभी वाहिगुरू जी आगे अरदास के लिए एकत्रित हुए हैं कि वह बिछड़ा रूहों को अपने चरणों में निवास बख्शीश करें और  पीछे परिवारों को ईश्वरीय आदेश मानने का बल बख्शें। उन्होंने कहा कि जो कुछ लखीमपुर खीरी में घटा, उसकी कल्पना के साथ भी रूह काँप उठती है। सरदार कालका ने कहा कि लखीमपुर खीरी घटना इतिहास में उसी तरीके दर्ज की जाएगी जिस तरीके अंग्रेज़ों और मुगलों के शासन काल दौरान हुई ज्यादतियों के शौर्यगाथा दर्ज हुए हैं। उन्होंने कहा कि शांतमयी रोष प्रदर्शन कर रहे किसानों और पत्रकार को तेज रफ्तार गाड़ी के नीचे कुचल कर मारने का बहुत बड़ा गुनाह ही नहीं बल्कि पाप है और ऐसे काम की जितनी निंदा की जाए कम है। उन्होंने कहा कि दिल्ली कमेटी हमेशा किसानों के साथ डट कर खड़ी है और आगे भी खड़ी होगी।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें