बाबा रामदेव बोले, धामी अब तक के सबसे तेजस्वी और पराक्रमी सीएम; समझते हैं हर व्यक्ति का दर्द

खास ख़बरें

हरिद्वार, 10 सितंबर (वेब वार्ता)। योग गुरु बाबा रामदेव ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को अब तक के सबसे तेज और पराक्रमी मुख्यमंत्री बताया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी संघर्ष और अभाव से निकलकर आने वाले व्यक्ति हैं, जो अंतिम छोर के व्यक्ति की पीड़ा को भी समझते है। इससे पहले सीएम धामी ने उत्तराखंड को विश्व की आर्थिक और सांस्कृतिक राजधानी के रूप में विकसित करने के लिए योगगुरु बाबा रामदेव से चर्चा की।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी हरिद्वार के दौरे पर हैं। यहां पहुंचते ही सीएम सबसे पहले पतंजलि योगपीठ पहुंचे और बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण से मुलाकात की। पतंजलि योगपीठ पहुंचकर सबसे पहले मुख्यमंत्री ने बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण के साथ पौधारोपण किया।

इसके बाद सीएम धामी ने पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि वो जल्द ही उत्तराखंड को विश्व की आर्थिक और सांस्कृतिक राजधानी के रूप में विकसित करेंगे। वहीं, योगगुरु स्वामी रामदेव ने सीएम धामी को राज्य निर्माण के बाद अब तक का सबसे बेहतर सीएम बताया और कहा कि सीएम धामी उत्तराखंड के सबसे बड़े योद्धा पराक्रमी और तेजस्वी सीएम हैं।

पतंजलि अनुसंधान संस्थान के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि पतंजलि ने प्राचीन भारतीय विधाओं को अनुसंधान के माध्यम से आगे बढ़ाने का कार्य किया है। पीएम नरेन्द्र मोदी और स्वामी रामदेव का योग को पूरी दुनिया में पहुंचाने में उल्लेखनीय योगदान है, जो हमारे लिए गौरव का विषय है। आज योग विश्वभर में फैला है और बच्चा-बच्चा आज योग को जानता है।

सीएम ने कहा कि हम सबको मिलकर उत्तराखंड राज्य को देश का आदर्श राज्य बनाना है। जो कोई भी उत्तराखण्ड के हित में अच्छा कार्य करेगा, वह हमारे सबसे नजदीक होगा। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड अनेक संभावनाओं से भरा प्रदेश है। सड़क, परिवहन, सुरक्षा, उद्यान, आदि प्रत्येक क्षेत्र की संभावनाओं पर विचार किया जा रहा है।

उत्तराखंड देश का आदर्श राज्य बने, इसके लिए सरकार 10 वर्षीय कार्य योजना बना रही है। उन्होंने कहा कि राज्य के मुख्य सेवक के रूप में मुझे जो जिम्मेदारी दी गई है, अपनी पूरी क्षमता से, दी गयी जिम्मेदारी के लिए एक-एक क्षण का उपयोग करूंगा।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें