कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की बनी कमी : केंद्रीय मंत्री

खास ख़बरें

गाजियाबाद, 09 सितंबर (वेब वार्ता)। कोविड-19 (कोरोना संक्रमण) की दूसरी लहर में सबसे ज्यादा परेशानी अगर किसी चीज की थी, तो वह ऑक्सीजन की कमी थी। ऐसे में केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार ने मिलकर इस समस्या को दूर करने के लिए नए ऑक्सीजन प्लांट लगाए गए है। वीरवार को जिले में भी नए ऑक्सीजन प्लांट का शुभारंभ के दौरान केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने यह बात कहीं।

मरीजों को ऑक्सीजन की कमी का सामना कोरोना की तीसरी लहर में न करना पड़े, इसके लिए सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाए गए हैं। वीरवार को चार नए ऑक्सीजन प्लांट शुरू किए गए। इसमें एक निजी अस्पताल भी शामिल है। केंद्रीय राज्यमंत्री सडक़ परिवहन एवं राजमार्ग एवं स्थानीय सांसद वीके सिंह के द्वारा शुभारंभ किया गया। सबसे पहले जिला एमएमजी अस्पताल में जिले के सबसे बड़े ऑक्सीजन प्लांट 1000 एलपीएम (लीटर प्रति मिनट) क्षमता वाले का शुभारंभ किया गया। इसके बाद संजयनगर स्थित संयुक्त अस्पताल में 500 एलपीएम, सीएचसी मुरादनगर में 200 एलपीएम, सीएचसी डासना में 330 क्षमता वाले एलपीएम एवं एक प्राइवेट अस्पताल क्लेयरमेडी अस्पताल में शुभारंभ किया।

इस दौरान उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में सबसे अधिक ऑक्सीजन की कमी थी। अब तीसरी लहर में ऐसा न हो, जिसकी आशंका जताई जा रही है। इसके लिए केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार ने मिलकर पूरे देश में ऑक्सीजन के नए प्लांट लगाने की घोषणा की, जनपद में भी 9 सरकारी चिकित्सा इकाइयों में कुल 11 ऑक्सीजन प्लांट की स्वीकृति प्रदान की गई थी। जनपद में अब तक 9 ऑक्सीजन प्लांट क्रियाशील हो चुके है, शेष 2 ऑक्सीजन प्लांट लोनी एवं जिला महिला अस्पताल में भी प्लांट जल्द शुरू हो जाएंगे। इस अवसर पर जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह, सीडीओ अस्मिता लाल, सीएमओ डॉ. भवतोष शंखधर, विधायक अजीत पाल त्यागी, एसीएमओ डॉ. विश्राम सिंह, डॉ. सुनील त्यागी, डॉ आरके गुप्ता अन्य अधिकारी मौजूद रहें।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें