अपनी मां की गोली मारकर कर दी थी हत्या, पकड़ा

खास ख़बरें

नई दिल्ली, 09 सितंबर (वेब वार्ता)। मुंडका इलाके में बीते बुधवार को एक युवक ने अपनी ही मां की पारिवारिक कलह के कारण गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने आरोपी बेटे को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान संदीप के रूप में हुई है। आरोपी के कब्जे से दो पिस्टल, 13 कारतूस, 6 खाली कारतूस जब्त किये हैं। वारदात के बाद आरोपी कहां कहां पर छिपा था। वह अवैध हथियार कहां और किस से लाया था। उसकी किस किसने सहायता की थी। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।

जिला पुलिस उपायुक्त परविन्द्र सिंह ने बताया कि एक सितंबर के दिन करीब साढ़े आठ बजे सैनी चौपाल के पास, गांव मुंडका स्थित घर में एक महिला के सिर में गोली लगने और एम्बुलेंस के लिए कॉल पीसीआर को मिली थी। कॉल मिलने के तुरंत बाद मुंडका पुलिस उसी घर पर पहुंची। घर एक 2 मंजिला इमारत है, जहां पहली मंजिल पर खून बिखरा पड़ा था।

इसके अलावा, पहली मंजिल के साथ-साथ ग्राउंड फ्लोर पर कुछ कारतूस के खोल, कुछ कारतूस भी मिले। घर में एक देशी कट्टा और एक खिलौना पिस्टल भी मिली थी। घायल महिला की पहचान रोशनी देवी के रूप में हुई थी। जिनको खून से लथपथ हालत में उनके परिवार व रिश्तेदार नजदीक के श्री बालाजी एक्शन मेडिकल इंस्टीट्यूट ले गए थे। छह और सात सितंबर की रात को महिला रोशनी को डॉक्टरों ने उनको मृतक घोषित कर दिया।

पुलिस ने आरोपी बेटे के खिलाफ हत्या की कोशिश का मामला हत्या में तब्दील कर लिया। एसीपी महेन्द्र कुमार की देखरेख में एसएचओ गुलशन नागपाल के निर्देशन में एसआई रमेश हेड कांस्टेबल सुनील, रमेश, प्रवीन और कांस्टेबल अनिल को आरोपी को पकडऩे का जिम्मा सौंपा गया। परिवार वालों से पता चला कि फरार आरोपी संदीप ने अपनी ही मां को पारिवारिक कलह के कारण गोली मारी थी। जिसके बाद वह फरार हो गया था।

पुलिस ने इलाके में लगे डेढ सौ से ज्यादा सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली। उसके रिश्तेदारों दोस्तों समेत चार सौ से ज्यादा लोगों से पूछताछ की। जिनसे पूछताछ करने पर संदीप के सौ से ज्यादा ठिकानों पर छापेमारी की थी। 8 दिन की मशक्कत के बाद आरोपी संदीप को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी के कब्जे से एक पिस्टल और एक कारतूस जब्त किया। आरोपी से पूछताछ करने पर पता चला कि 2013 में उसकी रितु से शादी हुई थी।

उनकी एक 5 साल की एक बेटी है। हालांकि, जल्द ही दोनों के रिश्ते बिगड़ गए और रितु अपने माता-पिता के साथ मायके में ही रहने लगी। संदीप पहले ड्राइवर का काम करता था लेकिन उसने नौकरी छोड़ दी और शराब पीने की लत लग गई। उनकी मां रोशनी संदीप को अपने तरीके से ठीक करने के लिए कह रही थी और धीरे-धीरे उनके बीच रोजाना बहस होने लगी।

वारदात की रात को उसकी मां ने उसे सुधारने के लिए फिर से बात की थी, लेकिन आरोपी ने बहसबाजी में उस पर गोली चला दी। गोली उसकी मां के गले से होकर निकल गई। वारदात के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया और रोजाना अपना ठिकाना बदल रहा था। भागने से पहले उसने अपना फोन भी फेंक दिया ताकि पकड़ा न जा सके।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें