सैकडों किसानों ने कलेक्ट्रेट में विभिन्न मांगों को लेकर दिया धरना,एडीएम को दिया ज्ञापन

खास ख़बरें

मुजफ्फरनगर, 09 सितंबर (वेब वार्ता)। भारतीय किसान संघ के जिला अध्यक्ष भंवरपाल शास्त्री के नेतृत्व में सैकड़ों किसानों ने कलेक्ट्रेट में विभिन्न मांगों को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि किसान को उसकी उपज का लागत के आधार पर लाभकारी मूल्य सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने इस संबंध में एक ज्ञापन एडीएम वित्त आलोक कुमार को सौंपा।

बुधवार को कलेक्ट्रेट में भारतीय किसान संघ के जिला अध्यक्ष भंवरपाल शास्त्री ने प्रधानमंत्री से मांग करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री कार्यालय से पत्रों की पावती अवश्य मिलती थी। जो गत 2 वर्षों से वह भी नहीं मिलती। केन्द्र सरकार द्वारा अलग-अलग प्रकार की कई योजनाएं चल रही है परंतु मुख्य विषय जो किसानों में अशांति का कारण बना हुआ है। उन्होंने कहा कि जब न्यूनतम समर्थन मूल्य स्वीकारा गया और मंडी में भाव उससे कम रहें, तो क्या किसान को लागत मिलती है। नहीं, कृषि उत्पादों का मूल्य नियंत्रण सदा ही रहा, इस कारण स्वतंत्र बाजार व्यवस्था विकसित नहीं हो सकी और अब कृषि आदान तो महंगे होते जा रहे है, परंतु न्यूनतम समर्थन मूल्य बहुत पीछे। उन्होंने कहा कि किसान को आदान पूर्तिकर्ता, उसकी उपज का व्यापार करने वाले तथा उद्योग चलाने वाले, सभी तो फल फूल रहे हैं, सम्पन्न हो रहे है, फिर स्वयं किसान क्यों कर्जदार और गरीब से और गरीब होता जा रहा है? बाजार भाव एवं न्यूनतम समर्थन मूल्य में भी सैकड़ों रुपये का अंतर हैं। फिर एक-दो प्रांतों को न्यूनतम समर्थन मूल्य का लाभ और शेष देशभर का किसान वंचित रहे, तो कोई तो समाधान जरूरी हो ही जाता है। उन्होंने कहा कि सभी कृषि वैज्ञानिक संस्थान उत्पादन बढ़ाने में लगे हैं। क्या अब किसान की आय बढाने या लागत घटाने पर प्राथमिकता से कार्य नहीं होना चाहिए? इन तमाम मुद्दों को लेकर भारतीय किसान संघ के कार्यकर्ताओं ने धरना प्रदर्शन किया। उन्होंने इस संबंध में एक ज्ञापन डीएम को सौंपा।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें