लखीमपुर हिंसा : घटना के विरोध में दिल्ली कांग्रेस के नेता, कार्यकर्ता मौन व्रत पर बैठे

खास ख़बरें

नई दिल्ली, 11 अक्टूबर (वेब वार्ता)। दिल्ली कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता लखीमपुर खीरी में हिंसा के विरोध में सोमवार को यहां उपराज्यपाल कार्यालय के निकट ‘मौन व्रत’ पर बैठे। उन्होंने केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे की मांग की। दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल कुमार, पूर्व केंद्रीय मंत्रियों अश्विनी कुमार तथा कृष्णा तीरथ भी प्रदर्शन में शामिल हुए। लखीमपुर खीरी में तीन अक्टूबर को हुई हिंसा में आठ लोग मारे गए थे जिनमें से चार किसान थे। किसानों को कथित तौर पर एक वाहन से कुचला गया था जिसमें भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता सवार थे। इसके बाद गुस्साए किसानों ने वाहनों में सवार कुछ लोगों को कथित तौर पर पीट-पीटकर मार डाला था। मरने वालों में भाजपा के दो कार्यकर्ता और वाहन चालक शामिल है। अनिल कुमार ने प्रदर्शन शुरू करने से पहले कहा, ‘‘कांग्रेस राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में राज्यपालों एवं उप राज्यपालों के कार्यालयों के बाहर ‘मौन व्रत सत्याग्रह’ कर रही है। हम केंद्रीय गृह राज्य मंत्री (अजय मिश्रा) के इस्तीफे और उनकी गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। वह लखीमपुर में हुई घटना की जांच को प्रभावित कर सकते हैं।’’ युवा कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता जंतर मंतर पर भी ‘मौन व्रत’ पर बैठे।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें