मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ने किया स्वतंत्रता आंदोलन में हरियाणा के योगदान पर आधारित प्रदर्शनी का अवलोकन

खास ख़बरें

सोनीपत, 12 अक्टूबर (राजेश आहूजा)। सूचना, जन संपर्क एवं भाषा विभाग के तत्वावधान में स्वतंत्रता आंदोलन में हरियाणा के योगदान पर आधारित प्रदर्शनी का मुख्य अतिथि के रूप में अवलोकन करते हुए मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी रमेश चंद्र ने शहीदों को नमन किया। उन्होंने कहा कि आजादी की लड़ाई में हरियाणा के वीरों ने बढ़-चढक़र हिस्सा लिया है, जिसकी प्रभावशाली झलक प्रदर्शनी में देखने को मिलती है।

आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत तीन दिवसीय भव्य प्रदर्शनी का सफल आयोजन किया गया, जिसके अंतिम दिन मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी रमेश चंद्र ने मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता आंदोलन में प्रदेश का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। छोटे से प्रदेश ने आजादी के लिए सर्वस्व न्यौछावर कर दिया। प्रदर्शनी में प्रदेश के योगदान को प्रभावी रूप में दर्शाया गया है, जिससे नई पीढ़ी को हमारे वीरों के बलिदान और संघर्ष से रू-ब-रू होने का सुअवसर मिला है। स्वतंत्रता आंदोलन में हरियाणा के वीरों ने समर्पित योगदान दिया। उन्होंने कहा कि 1857 की क्रांति में भी प्रदेश के वीरों ने सक्रिय हिस्सा लेते हुए आजादी के लिए सर्वस्व न्यौछावर कर दिया।

मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ने कहा कि प्रदर्शनी में हरियाणा के बदलते स्वरूप और आधुनिक रूप में तब्दील होते प्रदेश को दर्शाया गया है। हरियाणा 1966 से पहले कैसा था और आधुनिक दौर में किस प्रकार प्रगति की इसकी जानकारी भी प्रदर्शनी के माध्यम से हासिल की जा सकती है। शिक्षा व खेल तथा खाद्यान्न के क्षेत्र के साथ सडक़ों के निर्माण व प्रति व्यक्ति आय में लगातार हुई बढ़ोतरी की जानकारी दर्शाई गई है। हरियाणा के विकास का तुलनात्मक अध्ययन दिखाया गया है जो कि गौरवशाली है। प्रदेश ने हर क्षेत्र में नये कीर्तिमान स्थापित किये हैं।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें