बखरी में मोमबत्ती जलाकर लिया गया जिला बनाने के लिए जनांदोलन का संकल्प

खास ख़बरें

बेगूसराय, 13 अक्टूबर (वेब वार्ता)। बखरी को जिला बनाने की मांग को लेकर जनांदोलन खड़ा करने के संकल्प के साथ बखरी अनुमंडल का 27वाँ स्थापना दिवस धूमधाम से शैक्षणिक धरोहर और चेतनशील संस्थान श्री विश्वबंधु पुस्तकालय ने वाचनालय परिसर में मनाया। अध्यक्ष डॉ. विशाल केशरी की अध्यक्षता एवं प्रतिनिधि कौशल किशोर क्रान्ति के संचालन में संपन्न कार्यक्रम का उद्घाटन दीप प्रज्वलन एवं केक काट कर किया गया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डॉ. विशाल केशरी ने कहा इस बात का गौरव है कि बखरी अनुमंडल आन्दोलन में श्री विश्वबंधु पुस्तकालय बखरी साक्षी बन इसी परिसर में जिला प्रशासन को बंधक बनाकर अनुमंडल बनाने का मार्ग प्रशस्त किया था। विषय प्रवेश करते हुए नगर पार्षद सिधेश आर्य ने कहा कि क्षेत्र की उपेक्षा से आजिज यहां के नौजवानों ने संघर्ष का रास्ता अख्तियार किया, जिसे आम जनता का सक्रिय सर्मथन मिला। सरकार झुकी और बखरी अनुमंडल बना, जिला बनाने की दिशा में भी चार पांच वर्ष पूर्व तत्कालीन मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने संघर्ष समिति के प्रतिनिधि मंडल को सकारात्मक आश्वासन दिया था, जिसे अब तक पूरा नहीं किया गया है।

जन पहल के संयोजक विकास वर्मा ने कहा कि 27 वर्षों में भी बखरी पूर्ण अनुमंडल नहीं बन पाया है। आधारभूत चीजों की घोर कमी है, सरकारी कार्यालयों में व्याप्त भ्रष्टाचार नासूर बन चुका है। बिना लेन देन के कोई भी जनहित का कार्य नहीं होता है। जनता को भ्रष्टाचार से मुक्ति के लिए आंदोलन के लिए एक बार फिर से आगे आना होगा। अनुमंडल बनाओ आन्दोलन में सक्रिय भूमिका निभाने वाले कांग्रेस नेता कमलेश कुमार कंचन एवं अधिवक्ता मनोहर केशरी, बाईट कम्प्युटर के निदेशक संजय कुमार सिंह, प्रेमकिशन मन्नू, डॉ. आर.एन. झा, संरक्षक समिति के सदस्य बैधनाथ केशरी आदि ने कहा कि आज की युवा पीढ़ी को अपनी विरासत समझनी होगी। जिन उद्देश्यों को लेकर अनुमंडल के लिए संघर्ष किया गया था, आज उसका घोर अभाव है। धन्यवाद ज्ञापन करते हुए डॉ. रमण कुमार झा ने कहा कि बखरी अनुमंडल का आन्दोलन हमारी प्रेरणा का केन्द्र रहा है, अगर चाह ले तो बड़े से बड़े मुकाम को हासिल किया जा सकता है। स्थापना दिवस के मौके पर आयोजित विचार गोष्ठी के बाद पुस्तकालय पोखर के मोहार पर दीपावली का नजारा छाया रहा। उपस्थित लोगों ने दोनों हाथों में मोमबत्तियों को जला कर अपनी खुशियों का इजहार तथा बखरी को जिला बनाने को लेकर जनांदोलन खड़ा करने का संकल्प लिया।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें