दो पालियों में स्कूल संचालन का शिक्षकों ने किया विरोध

खास ख़बरें

आजमगढ़, 08 सितंबर। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ (चेतनारायण गुट) के आह्वान पर क्षेत्र के सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालय के शिक्षकों ने शासन से निर्धारित विद्यालय के संचालन समय के विरोध में बुधवार को स्कूलों में उपस्थित रहकर भी अध्यापन कार्य ठप रखा। विद्यालय पहुंचे छात्र-छात्राओं को निराश लौटना पड़ा तो उनके चेहरे परेशानी बयां करने को पर्याप्त नजर आए। शिक्षकों ने कहाकि भूख-प्यासे रहकर मनोयोग से अध्यापन कार्य संभव नहीं है।

कोरोना काल के बाद माध्यमिक विद्यालयों को शासन ने 16 अगस्त से खोल दिया है। संक्रमण से बचाव को नियमों के अनुपालन के लिए विद्यालय को दो पालियों में संचालित करने का निर्देश दिया गया है, जिसमें सुबह आठ बजे से दोपहर 12 बजे तक प्रथम पाली एवं 12.30 बजे से 4.30 बजे तक द्वितीय पाली में विद्यालय संचालित किए जा रहे हैं। शिक्षकों ने संगठनों के माध्यम से शिकायत दर्ज कराई कि समय से विद्यालय पहुंचने के लिए सुबह छह से सात बजे तक घर छोड़ देना पड़ता है। ऐसे में वापस होने में शाम छह बज जाता है। इस दौरान शिक्षकों को भूखे रहकर अध्यापन कार्य करना पड़ता है। छात्र भले ही दोनों पालियों में अलग-अलग हों, शिक्षक तो वहीं रहते हैं। ऐसे में एक शिक्षकों को दोगुना कार्य करना पड़ता है। शासन के इस तरह के निर्देश से शिक्षकों का शोषण किया जा रहा है। भूखे प्यासे रहकर पूर्ण मनोयोग से अध्यापन कार्य किया जाना संभव नहीं है। शिक्षक संगठनों ने हमारी समस्याओं से शासन को अवगत कराया है। विधान परिषद में भी इस समस्या पर सवाल उठ चुका है। दोनों ही कवायद के बावजूद समयसारिणी में कोई सुधार नहीं किया जा सका है।

विकास खंड महराजगंज के लोक शिक्षा परिषद इंटर कालेज सरदहा व आदर्श इंटर कालेज महेशपुर, लोक शिक्षा परिषद इंटर कालेज सरदहा व आदर्श इंटर कालेज महेशपुर समेत कई विद्यालयों में शिक्षक चाकडाउन हड़ताल पर रहे।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें