डीएम से की भू-माफियों की शिकायत

खास ख़बरें

गाजियाबाद, 10 सितंबर (वेब वार्ता)। 2 गरीब परिवारों ने सपनों का आशियाना बनाने के लिए जिंदगीभर की जमा-पूंजी खर्च कर भूखंड खरीदे। मकान का निर्माण कराने को वह पैसों का बंदोबस्त करते रहे, मगर कुछ भू-माफिया ने संबंधित भूखंडों पर डेरा जमा लिया। पुलिस और नगर निगम से निरंतर शिकायत के बावजूद इन परिवारों की सुनवाई नहीं हो सकी है।

उम्मीदों पर पानी फिरता देख पीड़ितों ने अब जिला प्रशासन का दरवाजा खट-खटाया है। डीएम से पूरे प्रकरण की शिकायत कर कानूनी कार्रवाई की गुहार लगाई है। विजय नगर थाना क्षेत्र की सुदामापुरी कॉलोनी में काफी समय पहले महिला सरिता और कमलेश ने भूखंड खरीदे थे। मूल आवंटी से यह भूखंड क्रय किए गए थे। बाद में दोनों परिवार वहां आशियान बनाने को पैसों की व्यवस्था करने में मशगूल हो गए।

आरोप है कि इस बीच कुछ भू-माफिया ने फर्जी कागजात तैयार कर संबंधित भूखंड अपने नाम करा लिए। इस खेल की जानकारी मिलने पर पीड़ित परिवारों के पैरों तले जमीन खिसक गई। आरोपियों ने इन भूखंडों की चारदीवारी कराकर गेट भी लगा दिए हैं। आरोप है कि भू-माफिया को पुलिस और नगर निगम का संरक्षण प्राप्त है। चूंकि शिकायत करने के बाद भी दोनों विभाग सुनवाई नहीं कर रहे हैं। भूखंडों के फर्जी कागजात बनवाने में नगर निगम के कुछ कर्मचारियों की मिलीभगत रही है।

विरोध करने पर आरोपियों द्वारा जान से मारने की धमकी दी जा रही है। न्याय न मिलने से त्रस्त यह परिवार शुक्रवार को कुछ नागरिकों को साथ लेकर जिला मुख्यालय पहुंचे। वहां जिलाधिकारी कार्यालय में पूरे मामले की शिकायत की गई। राष्ट्रीय जागरूक ब्राह्मण महासंघ के अध्यक्ष आर.डी. शर्मा, कर्तिका गौर, रविंद्र सिंह, विजय शर्मा, अमन शर्मा, परमात्मा पांडेय इत्यादि ने प्रशासनिक अधिकारियों को भू-माफिया के कारनामे की जानकारी दी। इन नागरिकों ने कहा है कि सप्ताहभर में समुचित कार्रवाई न होने पर वह गाजियाबाद डीएम कार्यालय के बाहर धरना देकर बैठ जाएंगे।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें