गणेश चतुर्दशी कल/ गणेश जी की मूर्ति बनाने में जुटे मूर्तिकार

खास ख़बरें

मूर्तियों की बिक्री ना होने से मूर्तिकार मायूस

नोएडा, 09 सितंबर (वेब वार्ता)। कोरोना और बढ़ती महंगाई का असर अब तीज त्योहारों पर भी साफ दिख रहा है। गणेश चतुर्दशी के लिए मूर्ति बनाने वाले मूर्तिकार मूर्तियों की बिक्री ना होने से खासे मायूस हैं। मूर्तिकारों का कहना है कि पहले के मुकाबले इस बार मूर्तियों के खरीदार काफी कम हैं। सेक्टर-21-20 के चैराहे पर भगवान के विभिन्न रूपों की मूर्ति बनाने वाले राजस्थान निवासी राजाराम का कहना है कि इस बार उन्होंने गणेश चतुर्दशी को लेकर सुंदर और आकर्षक मूर्तियां बनाई हैं। उम्मीद के मुताबिक मूर्तियों की बिक्री काफी कम हो रही है। उन्होंने बताया कि पहले गणेश चतुर्दशी से कई दिन पूर्व ही मूर्तियां बनाने के ऑर्डर आ जाते थे। इस बार गणपति की मूर्तियों के लिए आर्डर काफी कम मिले हैं। इसके अलावा मूर्तियों की खरीदारी के लिए ग्राहक भी काफी कम आ रहे हैं।

राजस्थान निवासी अनीता व कुमकुम का भी कहना है कि इस बार मूर्तियां खरीदने आने वालों के लोगों की संख्या काफी कम है। कोरोना व बढ़ती महंगाई के कारण मूर्तियों की बिक्री काफी कम हो रही है। उन्होंने बताया कि वह कई वर्षों से नोएडा में मूर्ति बनाने का काम कर कर रही हैं लेकिन इस साल जैसा हाल पहले कभी नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि गणेश चतुर्थी को लेकर इको फ्रेंडली मूर्तियां बनाई गई हैं, जिससे पर्यावरण को भी कोई नुकसान ना पहुंचे।

10 सितंबर से गणेश चतुर्दशी पर्व की शुरुआत हो रही है। इस दिन लोग बड़े ही धूम-धाम से घर में गणपति की स्थापना करते हैं। 10 दिन तक बप्पा को घर पर विराजमान करते हैं और फिर अन्नत चतुर्दशी के दिन गजानन का विसर्जन किया जाता है। गणेश चतुर्दशी से पहले ही लोग पर्व की तैयारियों में लग जाते हैं। गणेश जी का पूजन करते समय दूब घास, गन्ना और बूंदी के लड्डू का भोग लगाएं। गणेश जी की मूर्ति खरीदते समय ध्यान रखें, कि उनकी सूड़ दायें तरफ मुड़ी हुई हो। इससे धन और वैभव प्राप्त होता है।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें