कैप्टन अमरिंदर सिंह ने विधायक दल की बैठक से पहले दिया मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा

खास ख़बरें

चंडीगढ़, 18 सितंबर (वेब वार्ता)। पंजाब की दो बार कमान संभालने वाले कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आज शाम को विधायक दल की बैठक से पहले ही मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित को इस्तीफा सौंपने के बाद आज शाम पत्रकारों से कहा कि उन्होंने सुबह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को इस बारे में अवगत करा दिया था। मेरे साथ ऐसा तीसरी बार हुआ है जब मुझे जानकारी दिये बगैर विधायक दल की बैठक बुलायी हो। यह मेरा सरासर अपमान है कि मुख्यमंत्री होने के नाते इस बैठक मुझे जानकारी तक नहीं दी गई। ऐसा लगता है कि आलाकमान का मुझसे भरोसा उठ गया। इसलिये और अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकता और मुझे ये फैसला लेना पड़ा। उन्होंने भारी मन से कहा कि अब आलाकमान जिस पर भरोसा हो उसे मुख्यमंत्री बनाये। इसके बाद वह अपने 52 साल ससे साथ रहे अपने साथियों तथा समर्थकों से मिलकर आगे की रणनीति पर विचार करेंगे। वह पार्टी नहीं छोड़ रहे हैं लेकिन आगे के विकल्प खुले हैं। मैं राजनीति में ही रहूंगा लेकिन भावी रणनीति अपनों से मिलकर तय करेंगे। पार्टी जिसे भी मुख्यमंत्री बनायेगी वह उसे मानेंगे। उन्होंने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में मेरे नेतृत्व में पार्टी चुनाव मैदान में उउतरी और भारी बहुमत के साथ सत्ता में लौटी। अब पार्टी आलाकमान को मुझ पर भरोसा नहीं रहा कि यह चुनाव जीत पायेंगे या नहीं। चाहे जो भी हो मेरा अपमान तो नहीं करना चाहिये था।

उधर कांग्रेेस के पर्यवेक्षक अजय माकन तथा हरीश चौधरी और पार्टी प्रभारी हरीश रावत की मौजूदगी में विधायक दल की बैठक जारी रही जिसमें अगले मुख्यमंत्री के नाम का फैसला होना है। बैठक देर शाम तक चलने की संभावना है।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें