कृषि उपज के उचित मूल्य की मांग को लेकर भाकिसं ने दिया राज्यव्यापी धरना

खास ख़बरें

जिलाधिकारी के जरिए प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को सौंपा ज्ञापन

गुवाहाटी, 09 सितंबर (वेब वार्ता)। भारतीय किसान संघ (भाकिसं) की ओर से गुरुवार को किसानों की विभिन्न मांगों के समर्थन में राज्यव्यापी धरना-प्रदर्शन का कार्यक्रम आयोजित किया गया। हालांकि भाकिसं द्वारा अखिल भारतीय स्तर पर किसानों की मांगों के समर्थन में बुधवार को धरना और विरोध प्रदर्शन का कार्यक्रम आयोजित किया गया था। लेकिन, असम में बुधवार को यह कार्यक्रम आयोजित नहीं किया गया। इस दिन राज्य में श्रीमंत महापुरुष की पुण्य तिथि और भारत रत्न डॉ. भूपेन हजारिका की जयंती मनायी गयी, जिसके चलते विरोध प्रदर्शन के कार्यक्रम को एक दिन बाद गुरुवार का आयोजित किया गया है।

भाकिसं के असम इकाई के सांगठनिक महासचिव कृष्ण कांत बोरा ने बताया कि किसानों की मांगों के समर्थन में आज पूरे असम में जिला मुख्यालयों पर बड़ी संख्या में भाकिसं के पदाधिकारी और कार्यकर्ता धरना और प्रदर्शन करने के बाद जिला प्रशासन के जरिए मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री को ज्ञापन पत्र सौंपा गया।

“भारतीय किसान संघ (भाकिसं) लंबे समय से देश के किसानों द्वारा उत्पादित फसलों के उचित मूल्य की मांग कर रहा है। लेकिन, हकीकत में किसानों को मिलने वाली कीमत किसानों द्वारा उत्पादित फसल के उत्पादन मूल्य से कम है।

उन्होंने कहा कि सरकार वर्तमान में किसानों द्वारा उत्पादित फसल को लाभकारी बाजार मूल्य के तहत सुरक्षा देने की बात तो न्यूनतम समर्थन मूल्य के जरिए फसलों को क्रय करने की व्यवस्था की है इससे अधिसंख्यक किसान वंचित होते दिखाई दे रहे हैं। इसके अलावा यह पूरी व्यवस्था काफी असहज है।

बोरा ने कहा, इसलिए भारतीय किसान संघ ने सरकार से मांग किया है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य के बदले उचित लाभदायक बाजार मूल्य पर किसानों के उत्पाद को खरीदने की व्यवस्था किया जाए। इस मांग के संदर्भ में गत 11 अगस्त को एक ज्ञापन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पहले ही प्रेषित किया जा चुका है। लेकिन, इस पर प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से कोई उत्तर नहीं मिला है। इसके विरोध में भारतीय किसान संघ ने पूरे देश में गत 08 सितम्बर को विरोध प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा था। उसी आंदोलन के हिस्से के रूप में आज असम में विरोध प्रदर्शन किया गया।

कार्यक्रम का आयोजन शोणितपुर जिला मुख्यालय तेजपुर शहर, तिनसुकिया, बिश्वनाथ चाराली, बंगाईगांव, दरंग जिला मुख्यालय शहर मंगलदै, बाक्सा जिला के गोरेश्वर स्थित सर्किल कार्यालय, बरपेटा जिला के सर्थेबारी में एसडीसी कार्यालय, नलबारी जिला के सामता स्थित सर्किल कार्यालय, बजाली जिला मुख्यालय शहर पाठशाला, बरपेटा जिला के सर्थेबारी स्थित एसडीसी, कार्बी आंग्लांग जिला मुख्यालय शहर डिफू, कामरूप (ग्रामीण) जिला मुख्यालय अमीनगांव समेत राज्य के अन्य जिलों में जिलाधिकारी, सर्किल और एसडीसी कार्यालयों के सामने धरना और प्रदर्शन किया गया।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें