किसानों के लिए लाभकारी होती फसलों की समग्र सिफारिशें: कुलपति बीआर कम्बोज

खास ख़बरें

गहन मंथन व भौगोलिक परिस्थितियों को ध्यान में रखकर दी जाती हैं सिफारिशें

हिसार, 27 अक्टूबर (वेब वार्ता)। हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार के कुलपति प्रो. बीआर कम्बोज ने कहा है कि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों द्वारा फसलों की जो समग्र सिफारिशें की जाती है, वे किसानों के लिए लाभदायक होती है। विश्वविद्यालय के वैज्ञानिक गहन मंथन व भौगोलिक परिस्थितियों को ध्यान में रखकर ही सिफारिशें करते हैं।कुलपति प्रो. बीआर कम्बोज बुधवार को विश्वविद्यालय में आयोजित कृषि वैज्ञानिकों एवं हरियाणा सरकार के कृषि अधिकारियों की दो दिवसीय वर्कशॉप के समापन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

कार्यक्रम में अतिरिक्त गन्ना आयुक्त डॉ. जगदीप बराड़ विशिष्ट अतिथि मौजूद रहे। कुलपति ने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा तैयार की गई समग्र सिफारिशें प्रदेश की भौगोलिक परिस्थितियों, जलवायु, सिंचाई सुविधाओं, मृदा जैसे अनेकों कारकों को ध्यान में रखकर बनाई जाती हैं ताकि किसानों को इसका भरपूर लाभ मिल सके। वैज्ञानिकों द्वारा अपने-अपने क्षेत्र में विभिन्न फसलों की कीट, बीमारी व अन्य समस्याओं को ध्यान में रखते हुए निरंतर निगरानी की जाती है ताकि आने वाले समय में उस समस्या का समय पर निदान हो सके और किसान आर्थिक नुकसान से बचते हुए फसल की पैदावार में इच्छित पैदावार हासिल कर सके। उन्होंने वैज्ञानिकों से आह्वान किया किय वे समग्र सिफारिशों को ओर भी सरल भाषा में मुहैया करवाएं ताकि कम पढ़े-लिखे किसान भी आसानी से उसका फायदा उठा सकें।

दो दिवसीय कार्यशाला में छह सत्र आयोजित किए गए। कार्यशाला के प्रथम दिन गेहूं व जौ के लिए संबंधित अधिकारियों व वैज्ञानिकों ने महत्वपूर्ण सुझाव दिए। दूसरे सत्र में गन्ना व मक्का और तीसरे सत्र में दलहन व चारा फसलों को लेकर विचार-विमर्श किया गया। कार्यशाला के दूसरे दिन तिलहन फसलों, शुष्क कृषि, कृषि वानिकी को लेकर वैज्ञानिकों ने विचार रखे।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें