ई-श्रम पोर्टल पर मजदूरों के पंजीयन को चलेगा अभियान

खास ख़बरें

इटावा, 10 अक्टूबर (वेब वार्ता)। अभियान चलाकर ई-श्रम पोर्टल पर असंगठित क्षेत्र के मजदूरों, कामगारों का पंजीयन कराया जाए। इसी प्रतिदिन सूचना उपलब्ध कराई जाए। यह निर्देश जिलाधिकारी श्रुति सिंह ने विकास भवन के प्रेरणा सभागार में कर्मकारों के पंजीकरण के संबंध में आयोजित बैठक में दिए। उन्होंने कहा कि कामगारों का पंजीकरण प्रदेश शासन की प्राथमिकता का अभियान है।

उन्होंने कहा कि ई-श्रम पोर्टल पर असंगठित क्षेत्र के पंजीकृत मजदूरों, कामगारों को जन आरोग्य योजना के तहत चयनित अस्पतालों में प्रतिवर्ष पांच लाख तक निश्शुल्क उपचार की सुविधा प्राप्त होगी। साथ ही पंजीकृत श्रमिक को दुर्घटना के कारण मृत्यु/पूर्ण दिव्यांगता की दशा में अधिकतम दो लाख की आर्थिक सहायता देय होगी एवं दिव्यांगता 50 प्रतिशत से अधिक होने पर एक लाख की आर्थिक सहायता देय होगी।

सीडीओ संतोष कुमार राय ने बताया कि ई-श्रम पोर्टल पर असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के पंजीयन के लिए विभागों को लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं, जिसमें उपायुक्त स्वत: रोजगार को एक लाख, उपायुक्त श्रम रोजगार को एक लाख 9 हजार 518, समस्त नगर पालिका/नगर पंचायतों को एक लाख, जिला पंचायतराज अधिकारी, ग्राम अभियंत्रण विभाग को 50-50 हजार, जिला कृषि अधिकारी को दो लाख, लोक निर्माण विभाग, उपायुक्त उद्योग को 75-75 हजार, श्रम प्रवर्तन अधिकारी को 25 हजार, सिचाई विभाग को 30 हजार, सीएमओ, भूमि संरक्षण अधिकारी को दो-दो हजार श्रमिकों के पंजीकरण कराए जाने के लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि ब्लाक स्तर एवं निर्माण एजेंसियों के विशेष कैंप का आयोजन कर अधिक से अधिक पंजीकरण कराया जाए।

उन्होंने बताया कि इस हेतु असंगठित क्षेत्र के ऐसे कामगार जिनकी उम्र 16-59 वर्ष हो, जिनका पीएफ/ईएसआइ न कटता हो तथा आयकरदाता न हो एवं असंगठित क्षेत्र में कार्यरत हो, वे ई-श्रम पोर्टल पर निश्शुल्क पंजीयन के पात्र हैं अथवा जन सुविधा केंद्र के माध्यम से पंजीयन करा सकते हैं। पंजीयन के उपरांत पंजीकृत श्रमिकों को एक यूनिक नंबर वाला ई-श्रम कार्ड निर्गत होता है, जिससे उन्हें दुर्घटना बीमा योजना एवं जन आरोग्य योजना में लाभ प्राप्त करने की पात्रता मिल जाती है।

बैठक में सीएमओ डा. भगवानदास, पीडी डीआरडीए जयकेश त्रिपाठी, डीडीओ दीन दयाल वर्मा, जिला विद्यालय निरीक्षक राजू राणा, डीपीआरओ यतींद्र कुमार, डीसी एनआरएलएम बृजमोहन अंबेड, श्रम प्रवर्तन अधिकारी संत कुमार, डीसी मनरेगा शौकत अली, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. विनीत कुमार पांडेय, उपायुक्त उद्योग सुधीर कुमार, बीएसए उमानाथ, डीपीओ प्रशांत कुमार, ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर अजय प्रताप सिंह, समस्त बीडीओ सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें