आम आदमी पार्टी की श्रीमती साहिस्ता कांग्रेस में शामिल

खास ख़बरें

नई दिल्ली, 27 अक्टूबर (वेब वार्ता)। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने आज प्रदेश कार्यालय राजीव भवन में श्रीराम कालोनी वार्ड 64-ई से आम आदमी पार्टी की निगम पार्षद श्रीमती साहिस्ता को कांग्रेस परिवार में शामिल करके उनका स्वागत करते हुए कहा कि अरविन्द केजरीवाल की निरंकुशता के चलते आप पार्टी में किसी को भी अभिव्यक्ति की आजादी नही है। श्रीमती साहिस्ता के साथ सैंकड़ों साथी कार्यकर्ताओं ने भी कांग्रेस का हाथ थाम लिया। इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष अली मेंहदी, बाबरपुर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कैलाश जैन, जिला कोऑर्डिनेटर हर्ष चौधरी भी मौजूद थे। मंच का संचालन परवेज आलम ने किया।

कांग्रेस पार्टी में शामिल होने वालों में करावल नगर विधानसभा से जुल्फेकार अली उर्फ बल्लों पहलवान, आप पार्टी अल्पसंख्यक विभाग के उपाध्यक्ष, करावल नगर विधानसभा उपाध्यक्ष मेंहदी प्रधान, हाजी पप्पू, आप पार्टी के विधानसभा उपाध्यक्ष अबरार भाई चौ. इस्लाम, जाकिर, नौशाद, आप पार्टी वार्ड प्रभारी, चौ. साजिद, बाबू भाई, शमशाद प्रधान, मास्टर इसरार, आर.डब्लू.ए. अध्यक्ष, बब्बा सेठ, मामा अय्यूब, सदर बिहारी बिरादरी, हाजी रोजू, सदर मलिक बिरादरी और लड्डू भाई सहित सैंकड़ो कार्यकर्ता मौजूद थे।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविन्द केजरीवाल के स्वयंभू रवैये से आप पार्टी का प्रत्येक कार्यकर्ता प्रभावित है और किसी भी जनप्रतिनिधि को अपने हिसाब से क्षेत्र में काम करने की आजादी नही है, पूरा नियंत्रण अरविन्द के हाथों में है, यह सभी जानते है। चौ. अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली सरकार की अल्पसंख्यकों के प्रति गलत नीतियों के चलते दिल्ली में अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों का अरविन्द केजरीवाल पर विश्वास कम हो रहा है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी वन मेन शो की तरह अरविन्द केजरीवाल के हाथों में चल रही है। उन्होंने कहा कि दिल्ली को बनाने वाली कांग्रेस की सरकार ने 15 वर्षों में दिल्ली का चहुॅमुखी विकास किया। शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन, पर्यावरण, बिजली, पानी, सामाजिक विकास, सड़के, ब्रिज के क्षेत्र में विश्व स्तर का विकास किया और मेट्रो सेवा और सी.एन.जी. लाकर दिल्ली को एक क्रांतिकारी गतिशीलता दी।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि कोरोना काल में जब दिल्लीवासियों को दिल्ली सरकार और मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की अत्यधिक आवश्यकता थी तब दिल्लीवालों को भगवान भरोसे छोड़कर केजरीवाल घर में छिपकर बैठ गए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सत्ता से बाहर रहते हुए भी कोविड काल में दिल्लीवालों की भरपूर सेवा की जिसमें पका हुआ पौष्टिक भोजन, सूखा राशन, खाने की वस्तुऐं, कपड़े, मास्क, सेनिटाईजर, दवाई, ऑक्सीजन सहित प्रवासी श्रमिकों को उनके घर भेजने का किराया भी उपलब्ध कराया।

निगम पार्षद श्रीमती साहिस्ता ने कहा कि आम आदमी पार्टी में लम्बे समय से घुटन महसूस कर रही थी, और कांग्रेस पार्टी की नीतियों और विचारधारा में मेरा हमेशा से ही विश्वास रहा है। उन्होंने कहा कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों पर हमने केजरीवाल से कहा कि वो बाहर निकले और हालात पर नियंत्रण के लिए प्रयास करें लेकिन जब लोगों की जान बचाने की जरुरत थी तब केजरीवाल मुख्यमंत्री होते हुए भी घर पर बंद रहे। उन्होंने कहा कि हम लोगों ने सड़कों पर बाहर निकल कर आपसी भाईचारे को बरकरार रखने के लिए काम किया। उन्होंने कहा कि अरविन्द केजरीवाल की संघी सोच है और वह संघीय एजेंडे पर काम करते है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी और राहुल गांधी जी के प्रभावशाली नेतृत्व से प्रभावित होकर मैं अपने साथियों के साथ कांग्रेस पार्टी में शामिल हुई हू। उन्होंने कहा कि आप पार्टी के कन्वीनर अरविन्द केजरीवाल के अलावा आप पार्टी में किसी का वजूद नही है, ऐसा मैंने महसूस किया है।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें