लोटस बुलेवर्ड सोसाइटी/ सिक्योरिटी गार्ड व रेजिडेंट के बीच मारपीट, 8 गिरफ्तार

खास ख़बरें

नोएडा, 09 सितंबर (वेब वार्ता)। थाना सेक्टर-39 क्षेत्र के सेक्टर चार स्थित लोटस बुलेवर्ड सोसाइटी में सिक्योरिटी गार्ड व रेजिडेंट के बीच जमकर मारपीट हुई। सोशल मीडिया पर यह वीडियो जमकर वायरल हो रही है। थाना सेक्टर 39 पुलिस ने इस मामले में हत्या के प्रयास सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर सिक्योरिटी एजेंसी के 8 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस सिक्योरिटी एजेंसी के लाइसेंस निरस्त करने के लिए शासन को रिपोर्ट भेज रही है।

पुलिस आयुक्त आलोक सिंह के मीडिया प्रभारी पंकज कुमार ने बताया कि थाना सेक्टर 39 छेत्र के सेक्टर चार त लोटस बुलेवर्ड सोसायटी में रहने वाले सुरेश कुमार ने थाना सेक्टर 39 में रिपोर्ट दर्ज कराई है, कि उन्हें अपने घर का इंटरनेट कनेक्शन लगवाना था। उन्होंने इसके लिए मंगलवार को ही सोसाइटी के प्रबंधन से अनुमति ले ली थी। कुछ काम अधूरा रहने कारण बुधवार को उन्होंने टावर गार्ड से चाबी मांगी थी। गार्ड ने चाबी देने से मना किया तो, उन्होंने सोसाइटी के हेल्प डेस्क पर बात की। लेकिन बात नहीं हो पाई। इसी दौरान उनकी चाबी को लेकर गार्ड से बहस हो गई।

उन्होंने बताया कि गार्ड से चाबी लेकर वह 17वीं मंजिल स्थित अपने घर पर काम कराने चले गए। वह जैसे ही अपने बेटे सुबोध सहित नीचे आए तो वहां तैनात सिक्योरिटी इंचार्ज अमलेश राय, कृष्णकांत, जावेद, विक्रांत, दिनेश, पंकज, कुशल, पवन आदि ने लाठी-डंडे से लैस होकर उनकी जमकर पिटाई कर कर दी। जिसकी वजह से उन्हें गंभीर चोट आई है। मीडिया प्रभारी ने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच कर रही थाना सेक्टर 39 पुलिस ने बृहस्पतिवार सुबह कृष्णकांत, अमलेश राय, पवन, विक्रांत, दिनेश, पंकज, कुशल तथा जावेद को गिरफ्तार किया है। ये लोग सीआईएसएस सिक्योरिटी में काम करते हैं। लोटस बुलेवर्ड सोसाइटी में यही सिक्योरिटी एजेंसी सुरक्षा में तैनात है। उन्होंने बताया कि सिक्योरिटी एजेंसी के बारे में जांच की जा रही है, तथा उसके लाइसेंस निरस्तीकरण की रिपोर्ट शासन को दी जाएगी।

वही लोटस बुलेवर्ड सोसाइटी के एओए अध्यक्ष तेज प्रकाश ने कहा कि सबसे पहले मैं सोसाइटी का वासी हूं। इस दुखद घटना के बाद पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। हमारी तरफ से जांच में पूरा सहयोग किया जा रहा है। पुलिस ने जितने भी सीसीटीवी फुटेज मांगे हैं, उन्हें उपलब्ध कराया गया है। इस घटना की वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है।

पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने कहा है कि इस तरह की घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए गौतम बुद्ध नगर पुलिस कमिश्नरेट सतत प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि जिन सुरक्षा एजेंसियों को सुरक्षा की जिम्मेदारी दी गई है, उनके पंजीकरण से लेकर अन्य पहलुओं की जांच कराई जाएगी। इस मामले में अपर पुलिस आयुक्त कानून व्यवस्था लव कुमार को जांच कराने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि इस घटना के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

- Advertisement -

संबंधित ख़बरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

ताज़ा ख़बरें